Thursday, December 27, 2018

लिफाफे

एक नव नियुक्त मैनेजर को पुराने मैनेजर ने जाते जाते तीन बन्द
लिफाफे दिये।
जिन पर क्रमशः १ २ ३ की गिनती लिखी थी 
और कहा कि जब कभी भी तुम्हें इस कार्यालय में कोई बड़ी समस्या आ जाए तो ये
१ नंबर का लिफाफा खोलना
और जब कभी दूसरी बड़ी समस्या आ जाए तो ये
२ नंबर का लिफाफा खोलना
और जब कभी तुम्हें तीसरी बड़ी समस्या आ जाए तो ये
३नंबर का लिफाफा खोलना

नव नियुक्त मैनेजर ने खुश होकर हामी भरी, और तीनों लिफाफों को संभाल कर रख लिया

काफी समय के बाद हेड अॉफिस ने बिजनेस नहीं बढ़ने पर काफी कड़ा पत्र लिखा 

मैनेजर साहब को कुछ सूझा नहीं कि मैनेजमेंट को क्या
जवाब दें। तभी उन्हें याद आया और उन्होंने लिफाफा नंबर १ खोला अंदर जो लेटर निकला उस पर लिखा था

*अपना सारा दोष पुराने मैनेजर के माथे डाल दो कि उसने कुछ किया नहीं अतः वह सब नये सिरे से ठीक कर रहा है!*

मैनेजर साहब ने वैसा ही कियाऔर समस्या टल गई

कुछ महीनों बाद  फिर वैसा ही पत्र आया कि टारगेट पूरे नहीं हो रहे हैं क्यों न उसके विरूद्घ कोई कार्यवाही की जाये? 

घबराकर मैनेजर साहब ने लिफाफा नंबर २ खोला

उसमें लिखा था कि जवाब दो कि 

*स्टाफ बराबर काम नहीं करता वह कुछ को हटा रहा है व कुछ को ट्रान्सफर कर रहा है,कार्यालय में भारी परिवर्तन कर रहा है* 

ऐसा लिख दो ""

मैनेजर साहब ने वैसा ही किया और मुसीबत फिर टल गई

कुछ समय पश्चात फिर प्रधान कार्यालय द्वारा बिजनेस नहीं बढ़ने पर भारी चिन्ता व्यक्त की गयी कि चेयरमैन साहब भी बहुत नाराज हैं

मैनेजर को तीसरे लिफाफे की याद आई

 उन्होंने लिफाफा नंबर ३ खोला उसमें
लिखा था
.
.
.
.
.
.
.
. *अब तुम भी तीन लिफाफे बना लो.
Post a Comment