Wednesday, October 7, 2015

जीवन में जो सोचते हैं सदैव हमैं वो ही प्राप्त नही होता


एक गाँव में  किसान विशाल परिवार के साथ रहता था उसकी आर्थिक स्थिति अत्याधिक दैनिय थी जिसके कारण वो अपने परिवार का भरण पोक्षण करने में भी योग्य नही था लेकिन इन सभी परिस्थियो के बाद भी परिवार के लालन पालन में कोइ कमी नही रखी और इसी कारण उनका एक पुत्र पढाई में बहुत अच्छा था और पूरे परिवार की उमीदै उसी से थी जिसके कारण उच्च शिक्षा के लिऐ बाहर भेजा गया और जिसके लिए सम्पूण परिवार ने कडी मेंहनत करी और अपना सब कुछ गिरबी रखे जाने के बाद भी अपने बेटे की शिक्षा में कोई  बाधा नही आने दी
और इन सब बातो का ज्ञान उस बालक को भी था जिसके कारण वो भी शीघ्र ही अपनी शिक्षा पूण करके परिवार स्थिति सुधारने में सहयोग करना चहाता था और अपनी शिक्षा पूण होने का इन्तजर कर रहा था
और जैसे ही शिक्षा पूर्ण करते ही प्रथम JOB का संदेशा आया उसकी प्रसंता का कोई ठिकाना न रहा और जब कुछ समय बाद RESULT में उसका NO. नही आया तो वह पूरी तरह टूट गया और अपने परिवार का विश्वास को टूट के बिखरता सोच उसने आत्म दा का निर्णयं किया और जैसे ही
 वो आगे बढा तो उसको कुछ आवाज सुनाई दी  एक बाबा प्रवचन देते हुऐ कह रहा था हम जीवन में जो सोचते हैं सदैव हमैं वो ही प्राप्त नही होता लेकिन हम अपनी हार का कारण जानकर और पुहं प्रयास से हम कुछ भी प्राप्त कर सकते हैं और हमें कितनी बढी हार का सामना करना पढे तब भी निरशा और हार के बारे में चिन्ता नही करनी चाहिए
इन सब बतों ने उस बालक के जीवन में इतना प्रभाव डाला कि उस बालक ने अपने आत्म दा के विचार को बदला और अपने जीवन की नई  शुरुआत करी और अपने जीवन में कई हार और कठिन समय को देखने के बाद भी उसने अपने  जीवन हार नही मानी और वो अपने परिवार के गोँरव को ही नही देश के गोँरव भी बढाया है और आज उस बालक को सम्पूण विश्व मिसाइल मैन औफ INDIA  के नाम से जाना जाता है वो कोई और नही भारत के भूतपूर्व राट्र पति A.P.J. ABUDAL KALAM  AAJAD  के नाम से जाना जाता है 




No comments: